highlights
14869 Audio Programmes | 34 Program Languages | 45 Program Themes | 156 CR Stations | 56 CR Initiatives | and growing...

सुनो मेरी बहना ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial-ShareAlike

यह कार्यक्रम महिलओं के लिये विज्ञान स्वास्थ्य एवं पोषण के तहत राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी संचार परिषद्, विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी विभाग भारत सरकार नई दिल्ली के द्वारा उत्प्रेरित एवं समर्थित हैं. यह कार्यक्रम महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य एवं स्वस्थ जीवन हेतु चलाया जा रहा हैं.

7 BEHNO KI KAHANI ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial-ShareAlike

It's a story based on greedy-ness in Bundeli language.

आपन देह आपन देखभाल (एपिसोड - 116) ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial-NoDerivs

आपन देह आपन देखभाल कार्यक्रम में स्वास्थ्य सम्बन्धी घरेलु नुस्खों से संबंधित जानकारी रेडियो रिमझिम के माध्यम से दी गई है। 

लोकगीत ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

इस गीत में श्रीराम यादव ने आवाज़ दी है | यह गीत बाज़ार पर आधारित है |

Shubh kal - Amrit Mitti ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

This episode of Shubh Kal is based on the issue of Climate Change and Agriculture. Here, we are talking about the Amrit Mitti and its types and how it can  be used for rejuvenating soil.

Climate Change ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

इस कार्यक्रम में जलवायु परिवर्तन के प्रभाव के कारण कृषि एवं सिंचाई क्षेत्र में कठिनाइयों का सामना कर रहे किसानों के लिए इन परिस्थितियों में परेशानी से उबरने हेतु कृषि तथा सिंचाई के अन्य विकल्पों पर प्रकाश डाला गया है |

Climate Change ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

जलवायु परिवर्तन निश्चित तौर पर आज एक महत्वपूर्ण विषय है | जलवायु परिवर्तन क्या है ? और इसका प्रभाव किन-किन क्षेत्रों पर पड़ता है तथा इसके क्या कारण हैं ? इस बारे में इस कार्यक्रम में बताया गया है |

Anpad Bitiya Ko Nahi Thikano ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

शिक्षा आज के समय की मांग है | आज भी अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की रूढ़ीवादी मानसिकता है कि सिर्फ बेटे ही शिक्षा के लिए स्कूल जाएँ, लेकिन वे ये नहीं जानते हैं कि बेटों से अधिक अपने परिवार का ध्यान रखने और जिम्मेदारी निभाने में बेटियां ही आगे हैं। उनके बिना एक सशक्त समाज की कल्पना ही नहीं की जा सकती है। बेटी को भी बेटे की तरह अच्छी शिक्षा देना तथा उन्हें आगे बढ़ने का अवसर दिया जाना चाहिए। आज के दौर में हर क्षेत्र में बेटियां ही नाम रोशन कर रही हैं। इस कार्यक्रम में एक लघुनाटिका के माध्यम से इस विषय को बताने का प्रयास किया गया है कि लोगों की बेटियों के प्रति रुढिवादी मानसिकता आज भी बरकरार है |

स्वच्छता (साफ-सफाई) ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य स्वच्छता अपनाने और बीमारियों से स्वयं को रोग मुक्त रखना है | कार्यक्रम में लघुनाटिका के माध्यम से बताया गया है कि बीमारियों से निजात पाने के लिए साफ-सफाई के साथ ही प्रत्येक घरों में शौचालय जरुरी हैं। इसके लिए आम जनता को भी बढ़-चढ़ कर हिस्सेदारी निभानी होगी तभी स्वस्थ राष्ट्र का निर्माण होगा।

मीठी जलेबी की मधुर दुनिया ( Bundeli)   
 Creative Commons Attribution-NonCommercial

मीठी जलेबी की मधुर दुनिया, कार्यक्रम में बाल विवाह, दहेज प्रथा आदि सामाजिक कुरीतियों का उल्लेख हुआ है, जो आज भी हमारे समाज के लिए एक अभिशाप है | संगीत के माध्यम से इस विषय पर प्रकाश डाला गया है |

Bundeli

17 Programme(s)

Bundeli is often considered as a dialect of Hindi language spoken widely in the Bundelkhand region of the centrally-located Indian state of Madhya Pradesh and southern parts of Uttar Pradesh. Derived from Braj Bhasha, which was a literary language of Uttar Pradesh until the 19th century, Bundeli is written in Devnagri script.